Sadanand Kumar Rank 8
66 BPSC Topper Success Story

Image Source etvbharat
Image Source jagran

बात करेंगे बिहार के मीरपुर मोतिहारी से आने वाले
सदानंद कुमार की जिन्होंने
66th BPSC को क्रैक करके Rank 8 हासिल किया। 

सदानंद कुमार की प्रारंभिक शिक्षा उनके गांव चिरैया के एक स्कूल से हुई, 

Image Source Unsplash
Image Source Unsplash

इसके बाद 2017 में IIT गुवाहाटी से बायो टेक्नोलॉजी में B Tech कंप्लीट किया और प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी के लिए दिल्ली चले गए। 

निम्न मध्यमवर्गीय परिवार से आने वाले सदानंद कुमार की आर्थिक स्थिति अच्छी न होने के कारण वे दिल्ली से घर लौट आए। 

Image Source Unsplash

आटा चक्की चला कर घर का भरण पोषण करने वाले सदानंद कुमार के पिता की मृत्यु पिछले वर्ष हुई जिसके कारण पूरे घर की जिम्मेदारी सदानंद के कंधे पर आ गई। 

Image Source Unsplash

सदानंद कुमार ने BPSC की तैयारी के लिए कोई भी कोचिंग क्लास को ज्वाइन नहीं किया बल्कि self-study (स्वाध्याय) पर ध्यान दिया। 

Image Source Unsplash
Image Source etvbharat

सदानंद को यह सफलता उनके दूसरे प्रयास में मिली क्योंकि पहले प्रयास में वह बिना किसी तैयारी के बैठे थे।

सदानंद जी का Optional Subject - Mathematics था और अंग्रेजी माध्यम से उन्होंने यह परीक्षा दी। 

Image Source Unsplash
Image Source jagran

सदानंद कुमार Short Cut यानी smart study पर विश्वास करते है, औसतन 4 से 6 घंटे किंतु exam के समय 10 से 12 घंटे पढ़ते थे। 

Current Affairs के लिए Hot Topic यानी Burning Topic को ज्यादा ध्यान से पढ़ते थे। 

Image Source Unsplash

सदानंद जी की
सफलता का मूल मंत्र है-
Multiple Time Revision
यानी इन्होंने "घटना चक्र" को कई बार revise किया। 

Image Source Unsplash
Image Source Unsplash

सदानंद कुमार जी का मानना है कि चाहे BPSC या UPSC, previous year questions पर आपको बहुत ज्यादा focus करना होगा तभी trend और pattern का पता लगेगा। 

Image Source Unsplash

सदानंद के अनुसार कोई भी self-study के दम पर BPSC या State PSC को क्लियर कर सकता है बशर्ते उसे यह पता हो कि क्या पढ़ना है और क्या नहीं।

Image Source etvbharat

सदानंद जी अब DSP यानी डिप्टी सुपरिंटेंडेंट के पद पर काम करेंगे और अपनी सफलता का श्रेय स्व. पिता, माता, पत्नी, ससुर और गुरुजनों को देते हैं।

पूरी Story पढ़ने के लिए धन्यवाद 

आप अन्य ज्ञानवर्धक Story यहाँ से पढ़ सकते है 

Click 

अन्य Web Story पढ़े