कहते हैं जिंदगी की हर समस्या का हल आपको चाणक्य नीति में मिल जाएगा, वही चाणक्य नीति जिसे राजनीति के प्रकांड विद्वान चाणक्य अर्थात कौटिल्य ने लिखा है

उसी प्रकार सफलता पाने के लिए पंडित चाणक्य ने की अपने नीतिशास्त्र में कुछ अचूक उपाय बताये है। 

चाणक्य के अनुसार सफलता उन लोगों के लिए एक सपने के समान है जो समय की कीमत को नहीं समझते हैं

किसी भी कार्य को करने से पहले अपने आपसे तीन प्रश्न जरूर करें 
क्यों कर रहा हूं 
परिणाम क्या होंगे 
क्या मैं सफल हो पाऊंगा 
जवाब मिलने पर उस कार्य करना चाहिए।

व्यक्ति अपने कर्म से महान होता है ना कि जन्म से तो व्यक्ति को अपने कर्म और शक्ति पर विश्वास होना चाहिए

सबसे बड़ा मंत्र यह है कि अपने राज किसी को ना बताएं ।

जीतने वाले इंसान कभी भी बहाने नहीं बनाते हैं और बहाने बनाने वाले इंसान कभी भी नहीं जीते हैं

हारे हुए व्यक्ति की सलाह, जीते हुए का अनुभव एवं खुद का मस्तिष्क व्यक्ति को कभी भी हारने नहीं देता है। 

केवल सोच भर लेने से काम नहीं चलेगा,  कार्य को सिद्ध करने के लिए मेहनत करना अति आवश्यक है

असफलता का स्वाद चखे बिना आप पूर्ण सफलता को प्राप्त नहीं कर सकते हैं

इंसान को सफलता तभी मिलती है जब वहां दुनिया को नहीं बल्कि खुद को बदलना शुरू कर देता है। 

कुछ करने की दृढ़ इच्छा रखने वाले व्यक्ति के लिए इस दुनिया में कुछ भी असंभव नहीं है

सफलता पाना कोई रहस्य नहीं है, बल्कि यह तो पूरी तैयारी, कठोर मेहनत और लगातार संघर्ष का एक परिणाम है। 

सफलता पाने के लिए आलस्य को त्यागना अति आवश्यक है, अतः आलस्य में बिताया गया जीवन आत्महत्या के समान है।

पूरी Story पढ़ने के लिए धन्यवाद 

आप अन्य ज्ञानवर्धक Story यहाँ से पढ़ सकते है 

Click 

अन्य Web Story पढ़े