Chai Sutta Bar | Anubhav Dubey | Success Story (in Hindi)

Chai Sutta Bar (Anubhav Dubey) Success Story in Hindi

हैल्लो दोस्तों,

आज की इस रौचक पोस्ट में हम बात करेंगे Indore से शुरू हुए  Chai Sutta Bar Business की सफलता की कहानी (Success Story in Hindi) कि कैसे यह चाय का बिज़नेस जो इंदौर से केवल 3 लाख रुपये की लागत से शुरू होकर आज 4 से 5 साल में  इंटरनेशनल बिज़नेस बनकर 100 करोड़ + रुपये तक की Networth तक पहुंच चूका है |

We are not just the seller of Tea, We actually sell Vibe. – Anubhav Dubey

Note : यह पोस्ट Chai Sutta Bar काफी रिसर्च के बाद और काफी मेहनत से लिखा गया है। यह ब्लॉग पोस्ट बहुत ही Knowledgeable और Informative है। पूरा पढ़ने के बाद आपको बहुत सी जानकारी और प्रेरणा मिलेगी। यह आर्टिकल Indepth और विस्तृत (Very Detailed Article) लिखा गया है। आशा करता हूँ की आप इस पोस्ट को अंत तक जरूर पड़ेंगे और हमें feedback जरूर देंगे।

जैसा कि आप जानते है कि सभी देशो के अपने कुछ खास पेय पदार्थ (Beverage) होते है, ठीक इसी प्रकार भारत देश का भी अपना एक विशेष पेय है – चाय (Tea )  केवल भारत ही नहीं वरन कही सारे देशो में चाय का सेवन किया जाता है | एक अध्ययन के मुताबिक भारत देश में जितना चाय का प्रोडक्शन होता है उस उत्पादन का 80 से 90 प्रतिशत खपत केवल भारत में ही हो जाती है |

इस Planet धरती पर पानी के बाद जो सबसे ज्यादा पिया जाता है वो है चाय (Tea) ☕

Tea is the highest consuming beverage after water

भारत में ही करोडो ऐसे देश वासी है जो सुबह उठते ही सबसे पहले चाय का सेवन करते है ताकि उनका बाकी का पूरा दिन एक ऊर्जा के साथ बीते | वही कुछ लोग ऐसे भी [ Chaiholic-Teaholic यानि चाय का आदि ] जिन्हे दिन भर में 3 से 4 बार चाय चाहिए ही होती है (वैसे मैं भी उनमे से एक हूँ 😅 😜 ) |  इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता की मौसम कैसा हो, गर्मी हो या ठंडी या चाहे हो बरसात, चाय का सेवन कभी नहीं रुकता |

लेकिन चाय के इस आदत को करोडो के बिज़नेस में तब्दील कर दिया है Anubhav Dubey नाम के एक 23 वर्षीय युवक ने , जिन्होंने अपने 2 दोस्त Anand Nayak और Rahul Patidar के साथ इस बिज़नेस की शुरुआत की थी । 

तो चलिए शुरू से जानते है इस Business- Chai Sutta Bar के बारे में 👇👇👇

Anubhav Dubey (Teapreneure) जिनका बचपन मध्य प्रदेश के रीवा शहर में बीता । अपनी प्रारम्भिक शिक्षा महर्षि विद्या मंदिर से (8 वी कक्षा तक) की | आगे की पढ़ाई करने के लिए इनके माता पिता ने इनको इंदौर भेज दिया । आगे की पढ़ाई इंदौर के कोलंबिया कॉन्वेंट स्कूल से कि। यहां इनकी मुलाकात होती है Chai Sutta Bar Business के Upcoming Co-Founder और इनके दोस्त Anand Nayak से (in 11th Class)

इंदौर में रहने के दौरान इनके कई सारे दोस्त बने यानी एक अच्छी Networking और Bonding बनी । अनुभव कहते है की मैने जीवन में बहुत सारे दोस्त कमाए । ये दोस्त ही मेरा परिवार बन चुका था | इन्हीं लोगों के साथ घूमना फिरना लगा रहता था | अनुभव दुबे अपने आप को दोस्तो का धनी बताते है । वे कहते है Networking को हमारी भाषा में व्यवहार कहता है।

यह भी पढ़े –

Funding in Chai Sutta Bar

एक Incident शेयर करते हुए अनुभव बताते हैं कि जब कभी हम दोस्तों को कोई मोबाइल चलाने की इच्छा होती तो हम इंदौर के ही एक मार्केट (Novelty Shop Market जहां पर पुराने मोबाइल कम दाम में आसानी से मिल जाते है) पर जाते और सभी दोस्त अपनी पॉकेट मनी को इकट्ठा करते और एक लेटेस्ट मोबाइल फोन खरीद लेते । बारी बारी से हम सभी चलाते और जब मन भर जाता तो उसी Novelty मार्केट में उस मोबाइल फोन को ज्यादा दाम पर बेच कर प्रॉफिट भी कमा लेते !

यहां से उन्हे एक बात strike हुई की अगर हमें Proper Funding मिल जाए तो हम लोग उस Funding को utilize करके एक अच्छा बिजनेस खड़ा कर सकते है और एक बड़ा प्रॉफिट भी कमा सकते है ।

तो बिजनेस करने का मन तो अनुभव और उनके दोस्त आनंद में पहले से ही था । बस जरूरत थी एक शुरुआत की .

Curly Tales को दिए Interview में अनुभव बताते है की अभी हमने कहीं से भी funding नहीं उठाई है। ऑफर्स बहुत सारे आते है लेकिन अभी हम Bootstrap कर रहे है क्योकि अगर जल्दी Funding उठाते है तो फंडिंग कम मिलेगी और Share dilute करने पड़ेंगे।

UPSC Preparation

अब Schooling के बाद अभिनव के माता पिता चाहते थे कि बेटा एक अफसर बने। तो आगे UPSC की तैयारी करने के लिए दिल्ली भेज दिया गया।

वहीं आनंद ने अपने जीजू के साथ कपड़े का बिजनेस चालू किया ।

यूपीएससी की तैयारी के दौरान कई सारे सामाजिक कार्य (Social initiative) को जाना और mind में कहीं ना कहीं बिजनेस करने का तो था।

ऐसे ही एक दिन अनुभव के पास आनंद का फोन आया कि मैं अपना पुराना बिजनेस को बंद कर रहा हूं तो चल हम दोनों साथ मिलकर कोई नया बिजनेस स्टार्ट करते है।

यह बात सुनकर अनुभव दिल्ली से फिर इंदौर आ जाते है लेकिन अपने माता पिता को बिना बताए।

Chai Sutta Bar First Outlet

इंदौर आने के बाद दोनों सोचने लगे कि क्या बिजनेस करे तो आनन्द ने सुझाया कि हम किसी बिजनेस कि franchise ले लेते है और बेस्ट रहेगा कि MacDonald की फ्रेंचाइजी ले लेते है ।

लेकिन अनुभव ने मना किया की नहीं हमारे पास इतना पैसा नहीं है कि किसी दूसरी कंपनी की फ्रेंचाइजी ले लेकिन हम अपने बिजनेस की फ्रेंचाइजी जरूर देंगे ।

अब बिजनेस क्या करना है तो चाय का बिजनेस करने का idea आया क्योंकि बिजनेस में लगाने के लिए जो पूंजी चाहिए थी वो भी कम थी (केवल 3 लाख रुपए की सेविंग्स) और धरती पर पानी के बाद सबसे ज्यादा पिया जाने वाला दूसरा सबसे बड़ा पेय पदार्थ है – चाय

तो यह एक High Demand Potential Product है जिसको marketing करना तुलनात्मक रूप से आसान है।

अब बिजनेस क्या करना है ये तो डिसाइड हो गया लेकिन लोकेशन यानी जगह क्या चुने यह अभी भी असमंजस बना हुआ था । तो दोनों बाइक पर बैठकर और घूम-घूम कर पूरे इंदौर में से बेस्ट लोकेशन को खोजने लगे तभी उन्हें लगा कि Indore मे भंवरकुवा एक बेस्ट लोकेशन रहेगा क्योंकि यह पूरे इंदौर में से Students का एक बड़ा Education Hub हैं , चारो और coachings का मेला लगा हुआ है । चारो और youth यूथ का एक जमावड़ा लगा हुआ रहता है तो अपना पहला outlet उन्होंने भंवरकुवा में खोलने का निर्णय किया ।

Chai Sutta Bar Trio
Chai Sutta Bar (Trio of Business) [Left-Anand Nayak, Centre-Rahul, Right-Anubhav Dubey] Image Source : Instagram

आगे उनको साथ मिला राहुल नाम के एक ओर दोस्त का जो काफी मेहनती था और आगे की पढाई लिखाई को छोड़कर इनके साथ काम करने लगता है। फिर तीनो मिलकर बिज़नेस को आगे बढ़ाने का सोचते है – Trio of Business  

Shop को एक अच्छा सा और यूनीक नाम देना था तो नाम रखा 👉👉  “Chai Sutta Baar”  जो लोगो के mind में एकदम क्लिक करे।

Shop को अच्छे से व्यवस्थित रूप से बनाने में जो 3 लाख रुपए की सेविंग्स थी वो सेविंग्स देखते देखते खतम हो गई और आगे खर्च करने के लिए पैसे नहीं बचे थे तो अंत में शॉप के नाम का बोर्ड भी नहीं बना पाए तो इन्होंने पुराने से प्लाई के एक टुकड़े पर Water Colour से Chai Sutta Bar लिखा।

और अपने पुराने दोस्त की ही एक हार्डवेयर कि शॉप थी जहां से पुराना फर्नीचर की व्यवस्था की ।

इस तरीके से जैसे तैसे उन्होंने अपने पहले आउटलेट को चालू किया

 

यह भी पढ़े:-

Marketing Strateg in Chai Sutta Bar

चाय का बिजनेस अच्छा चले इसके लिए उन्होंने एक unique idea अपनाया यानी अपना पहला आउटलेट गर्ल्स हॉस्टल के नजदीक खोला।

अनुभव का मानना था कि अगर हमारी शॉप पर एक बार Girls Crowd आ गया तो Boys का Crowd तो अपने आप आ जाएगा ।

और इस बिजनेस को बढ़ाने में इन्होंने और भी कहीं सारी तरकीबें लगाई क्योंकि बजट इतना नहीं था कि पोस्टर, पेपर या फ्लायर बटवा सके या Shop की Digitally Marketing करे सके तो इन्होने अपने पुराने स्कूल के कुछ दोस्तो को बुलाया और कहा कि आ जाओ हमारी शॉप पर , दिन भर यहां बैठना , Free में चाय नाश्ता करना और पास में गर्ल्स हॉस्टल तो है ही ।

तो इस तरीके से शॉप पर एक Fake Crowd ( डमी भीड़) पड़ने लगी ।

एक तो नाम यूनीक Chai Sutta Bar और ऊपर से फ़ेक भीड़, तो आने जाने वाले लोगो को curiosity बड़ने लगी आस पास के लोग उन्हें वास्तविक कस्टमर समझते और भीड़ से आकर्षित होकर शॉप पर आने लगे ।

इसके अलावा ओर भी कहीं सारी जुगाड वाली मार्केटिंग टैक्टिक्स अपनाई जैसे किसी भीड़ भाड़ वाली जगह ( मॉल या ट्रैफिक लाइट) पर जाकर ये कुछ दोस्त जोर जोर से बोलकर बात करते जैसे की

यार आजकल वो Chai Sutta Bar बहुत चल रहा है, सुना है क्या तूने ? सुना है उसकी चाय बहुत टेस्टी है

तो ऐसे बोल बोल कर लोगो को अपना ब्रांड Recall करवाते और Chai Sutta Bar Brand को ओर भी ज्यादा एक्सपोजर मिलता ।

तो ये थी Chai Sutta Bar की No Cost, Zero Cost Marketing Strategy

धीरे धीरे भीड़ बड़ने लगी , लोग आने लगे अब अगला काम था प्रोडक्ट में दम होना तो इन्होंने अपने प्रोडक्ट को बेस्ट quality का बनाने का पूरा प्रयास किया

लोगो का प्यार हमें इतना मिला की दुकान के बाहर इतनी भीड़ पड़ने लगी की उस भीड़ को व्यवस्थित करने में 4-5 लोग लगते थे ।

Service Road पर पूरा जाम लग जाया करता था । इतनी भीड़ की कई बार हमारी complain हो जाती थी ।

हमारी इस शॉप को इतना एक्सपोजर मिला की प्रत्येक दिन CSB पर हजारों लाखों youngsters का footfall होता था। Indirectly Talent को दिखाने का एक मंच हम देने लगे थे। हमारी शॉप पर एक पॉजिटिव Vibe बनती । जो youth को पसंद आता वही हम उन्हें देते, Positive Atmosphere, Light Music.

हमारे काम से लोग इतने ज्यादा प्रभावित हुए की कई सारे पैरेंट्स अपने बच्चो को लेकर हमारे पास आते की ये हमारा बच्चा है, पढ़ता लिखता नहीं, इसका कुछ देखो तो हम लोग उनको भी अपने बिजनेस में शामिल कर लेते ।

Chai Sutta Bar Founders
Chai Sutta Bar Founders

Franchise Model of Chai Sutta Bar

शुरू से ही सोचा था कि अगर हम किसी जानी मानी कंपनी का फ्रेंचाइजी नहीं ले पाए तो अपनी कंपनी का फ्रेंचाइजी देंगे ।

हमारा काम बड़ने लगा तो फ्रेंचाइजी के लिए पूछताछ बड़ने लगी और हमने अपनी कंपनी का फ्रेंचाइजी मॉडल चालू किया।

दूसरा आउटलेट खोला Indore के गीता भवन, तीसरा आउटलेट खोला विजय नगर,

और 6 महीने में हमे इतनी सफलता मिली कि चोथा आउटलेट मुंबई में खोल दिया, यानी Mini Mumbai (Indore) से direct Mumbai

उसके बाद भोपाल, उज्जैन, अहमदाबाद और भी कहीं जगह। अभी लगभग 90+ शहरों, 200+ से ज्यादा आउटलेट भारत और अन्य देशो में है। Globally बात करे तो हम अब नेपाल, दुबई, ओमान, मस्कट, कनाडा, यूनाइटेड किंगडम में भी अपनी फ्रेंचाइजी दे चुके है ।

3 लाख की सेविंग्स से शुरू हुए इस बिजनेस को आज 100 करोड़ से ज्यादा का Turnover दे दिया है।

3 लाख से ज्यादा के कुल्हड़ की खपत होती है प्रतिदिन एवं CSB (Chai Sutta Bar) के अभी 18 लाख से ज्यादा का customer base है।

Parents Reaction on Tea Business

माता पिता का क्या रिएक्शन था यह पूछने पर अनुभव बताते है चूंकि मैंने अपने मम्मी पापा को बिल्कुल नहीं बताया था और हर मां बाप की तरह मेरे पैरेंट्स भी चाहते थे कि मैं अच्छे से पढ़ाई लिखाई करके एक ऑफिसर बन जाऊ लेकिन उनकी उम्मीदों के उलट मैं उन्हें बिना बताए दिल्ली से इंदौर आ गया ताकि आनंद के साथ बिजनेस कर सकू।

हमारे 3 आउटलेट सफलता पूर्वक खुल चुके थे और 4th शॉप open होने की खुशी में मैंने फेसबुक लाइव कर दिया तो वो लाइव मेरे किसी रिश्तेदार ने देख लिया और मेरे पापा को कह दिया की आपका बेटा कोई IAS की तैयारी नहीं कर रहा है वो तो चाय बेच रहा है।

पापा बहुत ज्यादा नाराज हुए और अचानक से इंदौर आ गए लेकिन हमारे काम को अच्छे से देखा तो उन्होंने हमे बिना कुछ कहे चले गए।
जब हमारा काम और शोहरत बड़ने लगी, पेपर में हमारा नाम-फोटो छपने लगा तब जाकर मेरे पापा की नराजकी ख़तम हुई। अब पापा को लोग मेरे नाम से जानते है

What is Chai-Sutta in CSB

Chai Sutta बार में Sutta का क्या मतलब है ?

क्या Sutta भी आपके यहां मिलता है ?

Chai Sutta Bar इस नाम का क्या मतलब है ?

Curly Tales को दिए इंटरव्यू में अनुभव ये सभी प्रश्नों का उत्तर देते हुए कहते है कि जब हमें अपनी दुकान का नाम रखना था तो हमे ये Word – Chai Sutta Bar बहुत परफेक्ट लगा क्योंकि Chai के साथ Sutta flow में जाता है लेकिन हमारे यहां केवल Herbal Tea दी जाती है वो भी कुल्हड़ में।

Sutta का यहां सीधा सा मतलब है कि हमारे Premise में Smoking बिल्कुल allow नहीं है और ना ही करनी चाहिए ।

Sutta नाम रखने का मुख्य उद्देश्य ये था कि लोगो को हमारा ये unique नाम बार बार Recall हो जाए

Chai-Sutta नाम से customer को retention मिलता है । यह नाम ग्राहक को एकदम स्ट्राइक करता है।

Sutta means – No Smoking

Bar इसलिए नाम दिया क्योंकि लोगो को Bar और Club जाना अक्सर पसंद आता है लेकिन students के पास इतना पैसा नहीं होता है कि क्लब या बार afford कर सके या Bar में कुछ पैसा खर्च कर सके तो हमने इसी concept को लेकर Bar नाम दिया जहां आपको Bar Table पर मात्र 10 रुपए की शुरुआत में Best कुल्हड़ हर्बल चाय मिल जाएगी ।

Why KULHAD in Chai Sutta Bar

अपने पहले आउटलेट से ही हमने चाय को कुल्हड़ में देने का सोचा क्योंकि कुल्हड़ मिट्टी का बना होता है जो Biodegradable होता है और आसानी से Decompost हो जाता है।

पर्यावरण को ध्यान में रखते हुए हमने कभी प्लास्टिक के कप या थर्मोकोल cup कभी प्रयोग नहीं किया।

आज हम 3 लाख से ज्यादा कुल्हड़ रोज प्रयोग करते है, अगर आज हम इनके जगह प्लास्टिक कप प्रयोग करते तो बहुत ज्यादा प्रदूषण कर रहे होते।

इसके अलावा हमने पानी के प्लास्टिक पाउच कभी भी सेल नहीं किए, पानी को हमेशा फ्री ही रखा ।

इसके अलावा Potters community (कुम्हार) को रोजगार भी मुहैय्या करवाया।

और कुल्हड़ इसलिए की जब हमारे आउटलेट दूसरे अन्य देशों में खुले तो वहां के नागरिक भी हमारे देश की मिट्टी को चूमे

असल में हम अपने Indian Tradition को बढ़ावा भी देना चाहते है

Chai Sutta Bar Kulhad Tea
Chai Sutta Bar (CSB) success story Kulhad Tea

Emplyment through Chai Sutta Bar

अनुभव दुबे ने जैसा पहले बताया कि हमारी चाय सुट्टा बार से हम रोजगार भी प्रदान करते हैं ।

Directly हमारे इस बिजनेस से 1000 लोगो को रोजगार मिला और 500+ कुम्हार (Potters) लोगो को भी हमने permanent रोजगार प्रदान किया तो कुल 1500 से ज्यादा लोग हमसे आज जुड़े हुए है।

जैसे एक बंदा है मनोज (4th pillar of our startup and he is from lower middle class family) जो पहले किसी डेंटिस्ट के यहां काम करता था और बाद में आनंद के साथ उसके कपड़े के बिजनेस में हाथ बंटाता था। वह काफी मेहनती था लेकिन उसके माता – पिता नहीं थे  यानी वह एक अनाथ था तो हमने उसे पहले अच्छे से trained किया और फिर अपने बिजनेस में शामिल कर लिया। आज वह काफी सक्सेसफुल है उसके पास खुद का अपना पर्सनल vehicle हैं, खुद का Flat है और आज वह By Air travelling करता है।

जब हम कुल्हड़ के ऑर्डर देने के लिए Potters (कुम्हार) के पास गए तो हमने कहा कि हमें प्रतिदिन 500 से ज्यादा कुल्हड़ लगेंगे तो वे हसने लगे की ऐसे बहुत से लोग आते है लेकिन हमने इसे challenge के रूप में लिया और आज 3,00,000 से ज्यादा कुल्हड़ का प्रत्येक दिन उपयोग होता है। ( 30 लाख रुपए का Turnover प्रत्येक दिन)

पहले हम देखते थे तो कुम्हार लोग जो काफी दयनीय परिस्थिति में अपना जीवन बिताते थे, गंदे नाले के किनारे छोटी छोटी सकरी गली में रहते थे। जिनके छोटे बच्चे भी गरम भट्टी में काम करते थे ।

लेकिन आज उनका जीवन यापन बहुत बदल गया है, उनका रहन सहन और उठना बेठना पहले की तुलना में बहुत बदल गया है, आज उन्होने एक अच्छा couch (Sofa) ले लिया है। स्थिति पूरी बदल गई है ।

अनुभव दुबे आगे बताते है कि आज जब हम Potters Community से मिलने जाते है तो वो लोग हमारा स्वागत ख़ुशी ख़ुशी करते है।

वे कहते है कि पहले हमे सीज़नल धंधा करना पड़ता था जैसे गर्मी में मटकी (सुराही) बनाना और दीवाली में दीपक बनाना।

लेकिन अब आपकी वजह से हर दिन दीवाली जैसी खुशियां नसीब होती ही।

हमारे Competitor भी अब प्लास्टिक cup को छोड़कर कुल्हड़ का प्रयोग करते है तो इससे भी ओर रोजगार बड़ रहा है और असल में वो हमारे Competitor (प्रतिद्वंद्वी) नहीं है क्योंकि वो भी हमारे इस Social Cause में अपनी भागीदारी दे रहे है।

और रोजगार देने में हमारा मुख्य उद्देश्य यह रहता है कि हम मुख्यत 3 वर्गो को रोजगार दे सके

पहला – गरीब तबके के लोग (यानी BPL – Below Poverty Line)

दूसरा – अनाथ (Orphan) लोग जिनके माता पिता का साया उन पर से उठ गया हो।

तीसरा – Handicap Disable लोग जो चलने फिरने में थोड़े लाचार हो।

जब हम कभी फ्रेंचाइजी भी देते हैं तो यह हमारी शर्त होती है कि प्लास्टिक के कप में चाय नहीं देना है, केवल कुल्हड़ में हर्बल चाय देना है और मुख्यत तीन वर्ग के लोगो (Orphan, BPL, Handicap) को रोजगार देना है

तो पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचाना और लाचार लोगो को रोजगार मुहैया कराना ये सब Social Cause ( Social Work) UPSC Preparation के दौरान सीखा था जो आज काम आता है।

यह प्रेरणादायक कहानी भी जरूर पढ़े

Anubhav Dubey Education

Anubhav Dubey ने अपनी एजुकेशन में CA की तैयारी भी की, IIM-CAT की भी preparation की और फिर दिल्ली से UPSC की भी तैयारी की।

लेकिन अनुभव बताते है कि अगर कोई हमसे हमारी एजुकेशन पूछता है तो हम कहते है कि –

We are the students of ground reality

हम लोगो ने जमीनी सच्चाई से बहुत कुछ चीजें सीखी है, जमीनी हकीकत को जाना है।

So,
It’s not always about your education but more about your passion & dedication towards whatever you want to do.

Chai Sutta Bar Menu & Price

Chai Sutta Bar में क्या क्या menu है तो
अनुभव बताते है कि – “We are not just the seller of Tea, We actually sell Vibe” मतलब हम केवल चाय नहीं बेचते है, हम तो एक सकारात्मक अनुभूति को बेचते है, जहा एक खुशमिजाज माहौल हो, Happy Culture हो Young Environment हो।

Young का मतलब उम्र से नहीं बल्कि feeling young है मतलब उस Vibe (Aura) को अच्छे से feel कर सके।

वैसे हम मुख्य रूप से चाय serve करते है लेकिन फिर भी हमारा बिजनेस मॉडल QSR पर work करता है यानी QSR- Quick Service Restaurant

जैसे Fast Food like Maggie, Sandwich, बर्गर, पिज़्ज़ा और कॉफी और भी बहुत कुछ ।

चाय में भी 10 के करीब flavour दीए जाते है ताकि ग्राहक को कोई बोरियत ना हो

जैसे
(1) चॉकलेट चाय
(2) Rose Tea
(3) तुलसी चाय
(4) इलायची चाय
(5) मसाला चाय
(6) अदरक चाय
(7) Paan Tea
(8) Lemon Tea
(9) Kesar Tea
(10) Pineapple Tea

इसके अलावा सैंडविच, पिज़्ज़ा, बर्गर, हॉट कॉफी कोल्ड कॉफी में भी बहुत वरायटी मिलती है. Chai Sutta Bar का मेन्यू मात्र 10 रुपये के वाजिब दाम से शुरू होता है।

Challenges in Chai Sutta Bar

Chai Sutta Bar के इस चाय के बिजनेस को स्थापित करने में क्या क्या चुनौतियों का सामना करना पड़ा ?

Anubhav Dubey बताते है, Entrepreneurship means Challenges,
उद्यमिता में चुनौतियां तो आएगी ही। जैसे मैने पहले बताया की कुम्हार लोगो ने भी पहले हम पर भरोसा नहीं किया की क्या हम एक दिन में 500 से ज्यादा कुल्हड़ में चाय बेच पाएंगे लेकिन आज हम 3 लाख से ज्यादा कुल्हड़ का उपयोग करते है।

और भी कई सारे challenges आए जैसे Business की शुरुआत में इतना पैसा नहीं था तो कर्मचारी रखना संभव नहीं था तो हम दोस्त ही सभी काम खुद से करते थे जैसे बर्तन धोना और झाड़ू पोछा करना। तो ये काम हमे शुरआती दिनों में खूब करना पड़ा।

किसी किसी दिन अजीबोगरीब फोन कॉल आए, किसी दिन कुछ ऐसे दादा पहलवान लोग आ जाते थे जो चाय पी जाते थे लेकिन पैसा नहीं देते थे।

कई बार हम पर Administration का दबाव पड़ता की आपकी दुकान पर हद से ज्यादा भीड़ पड़ती है तो दुकान बंद कीजिए।

कई बार नारकोटिक्स का छापा भी पड़ा कि आप अपनी चाय में ऐसा क्या मिलाते है कि इतनी भीड़ पड़ती है ?
Why are people so much addicted towards your Tea & Coffee ?

तो ऐसे 2 से 3 बार छापा पड़ा, हर दिन एक नया challenge आता है तो हम सभी दोस्त लोग उसे आसानी से टेकल करते है (दोस्ती यहां भी काम आती है)

Team आपकी अच्छी होनी चाहिए, आपकी नेटवर्किंग में दम होना चाहिए, आपका व्यवहार बहुत स्ट्रॉन्ग होना चाहिए कि जब कभी ऐसी विकट चुनौती आए तो आप उसका सामना आसानी से कर पाए।

Growing A Startup Is like Growing A Baby

Anubhav Dubey

Chai-Sutta के अलावा आपके ओर कोई बिजनेस है ?

अनुभव दुबे ने बताया कि Chai Sutta के अलावा हमारे ओर भी बिजनेस है जैसे

  • IT Company
  • Digital Marketing Company
  • Trading Company- Chai Sutta Bar Trading Pvt Ltd
  • NGO
  • Non Veg Brand (दो बोटी चार रोटी )

आगे का लक्ष्य Upcoming Goal

वैसे हम दिन प्रतिदिन मेहनत करते है, हमारे प्रोडक्ट कि क्वालिटी गुणवत्ता को ओर भी ज्यादा सुधारते है,

लेकिन अगर आगे 5 साल के लक्ष्य कि बात करे तो हम अपने इस बिजनेस को भारत देश के हर शहर में खोलना चाहते है, अगर सभी शहर ना सही तो प्रत्येक अन्य देश को जरूर कवर करना चाहते है ।

हम ओर भी ज्यादा आउटलेट दूसरे अन्य देशों में खोलना चाहते है क्योंकि हम चाहते है कि दूसरे देश के नागरिक हमारे देश की मिट्टी को चूमे।

वो कहते है ना जैसा देश वैसा भेष ठीक उसी प्रकार दूसरे देशों में भले ही स्वाद अलग हो लेकिन चाय कुल्हड़ में ही परोसा जाए ये हम जरूर चेक करते है

तभी तो हमने नाम रखा

Chai Sutta Bar – Cuddle The Kulhad

Chai Sutta Bar Success Story in Hindi
Chai Sutta Bar Success Story in Hindi

Chai Sutta Bar’s Message to Youth

अनुभव अपना संदेश युवाओं को देते हुए कहते है कि अगर आपके माइंड में कोई बिजनेस करने का मन है तो उसे तुरंत करने का मन बनाए, उस Idea पर work करो।
यही उम्र होती है कुछ Risk लेने की, यही उम्र है दौड़ने की और छलांग लगाने की। यही वो उम्र है जब आप तरह तरह की एक्टिविटी कर सकते हो, उछल-कूद कर सकते हो लेकिन 40-50 साल की उम्र में नहीं कर पाओगे।

अगर इस भाग दौड़ में दो चार हड्डी टूट भी जाएगी तो कोई बात नहीं, इस उम्र में फिर से जुड़ भी जाएगी। लेकिन रीढ़ की हड्डी को बचाकर रखें, जोखिम (Risk) जरूर उठाए लेकिन Calculated Risk ही लेवे।

अपने Comfort Zone (आरामदायक क्षेत्र) से बाहर निकलिए, business करना है तो आस पास कि दुनिया को एक्सप्लोर कीजिए, इससे आपको नए नए विचार (ideas) आयेंगे।

Brainstorm (विचार मंथन) कीजिए, आस पास के लोगों से networking (व्यवहार) किजिए ताकि आगे कोई hurdle (बाधा) आए तो आप आसानी से उसे पार कर सके।

युवाओं को में कहना चाहता हूं कि आप अपने मन मस्तिष्क को स्थिर रखे ( Mentally Stable) ।

हो सके तो अपनी Communication Skill पर work करे तभी तो आप किसी बिजनेस को लीड कर पाएंगे। क्योंकि customer के Pain Point को समझने के लिए आपको कस्टमर से बात करनी होगी तभी काम चलेगा।

Struggle करो और सफलता हासिल करो। Struggle को success story में बदलिए। लोगो को आपकी परेशानियों से कोई लेना देना नहीं है। कोई भी excuse मत दीजिए, रोइए मत ।
परेशानियां तो जीवन में आएगी ही, हिम्मत ना हारे, बस लगे रहिए अपने काम में। संघर्ष करते रहिए

क्योंकि Struggle के बाद Success तो मिलेगी ही

Success is the best Revenge

अगर आपको inspiration चाहिए तो आप अपने आस पास के लोगों से inspiration (प्रेरणा) लीजिए जैसे एक गरीब लाचार बाप जो मेहनत मजदूरी करके अपने बच्चो का पेट पालता है, उन लोगो से प्रेरणा लीजिए जिनके हाथ पैर नहीं है लेकिन फिर भी जीने की आशा है

प्रेरणा आप अपने मां बाप से लीजिए जिन्होंने आपके लालन पालन में कोई कमी नहीं रखी

और आगे में बस यही कहूंगा कि जो आपका प्यार और स्नेह हमको मिला उसके लिए हम आपका बहुत बहुत धन्यवाद करते हैं।

Do It Now

Startup is not a Fairy Tale – Anubhav Dubey

Final Words:

मैं आशा करता हूं कि आपको ये पोस्ट Chai Sutta Bar Success Story (Anubhav Dubey) Success Story (in Hindi) जरूर पसंद आई होगी और जरूर कुछ करने की प्रेरणा मिली होगी।

अगर पसंद आई है तो अपने सभी दोस्तों और करीबियों को ये पोस्ट जरूर Share करे ताकि Positivity आगे तक बड़े और अगर आपको कुछ सुझाव है तो मुझे नीचे Comment जरुर करे !

ऐसे ही ज्ञान वर्धक और प्रेरणा देने वाले पोस्ट पढ़ने के लिए हमारे इस ब्लॉग (Real Inspiration For U) को फॉलो करें

Follow करने के लिए दाई ओर नीचे (Right Bottom Corner) एक घंटी 🔔 बनी है उसे दबाए 👆 और हमारे ब्लॉग को फॉलो करे।

मिलते है आगे ऐसे ही ज्ञानवर्धक पोस्ट में।

पोस्ट को अंत तक पढ़ने के लिए आपका प्रेम पूर्वक धन्यवाद 🙏

[ms_get_single_post_shortcode post_id=’982′]

FAQs About Chai Sutta Bar (CSB):

Who is the owner of Chai Sutta Bar?

Anubhav Dubey
Chai Sutta Bar के फाउंडर है जिन्होंने वर्ष 2016 में अपने दो दोस्त आनंद नायक और राहुल के साथ इस बिजनेस कि शुरुआत इंदौर भवरकुआ से कि थी

Chai Sutta Bar Networth (Turnover) ?

100 करोड़ से ज्यादा का Turnover है ,
2016 में 3 लाख की लागत से शुरू हुआ यह business Chai Sutta Bar आज 5 सालो में 100 करोड़ से ज्यादा का टर्नओवर कर चुका है।

Chai Sutta Bar Franchise ?

अगर आप Chai Sutta Bar की फ्रेंचाइजी लेना चाहते है तो इनकी ऑफिशियल वेबसाइट chaisuttabarindia.com पर जाए , जहां आपको एक फार्म मिलेगा उस Form को अच्छे से भरना है ।
फिर Chai Sutta Bar की Team आपको संपर्क करेगी और आगे की जानकारी देंगे।

How many branches does Chai Sutta Bar have?

5 सालो की कड़ी मेहनत से आज Chai Sutta Bar के 90+ cities मे 200+ आउलेट्स है, देश में ही नहीं वरन् विदेशो में भी branches है

Chai Sutta Bar Menu?

Chai Sutta Bar असल में QSR ( Quick Service Restaurant) model पर काम करता है।
उच्च गुणवत्ता की hygienic चाय दी जाती है वो भी मिट्टी के कुल्हड़ में इसके अलावा चाय कि बहुत सारी वरायटी, और कॉफी, बर्गर, सैंडविच, पिज़्ज़ा और भी बहुत कुछ।


Note: I wrote this whole article “Chai Sutta Bar Success Story in Hindi” mainly in Hindi language with intense research on topic so If you found any mistake then please let me know & keep your kind support 🙏 (I am not the owner of images used in this article, I used images content with proper editing under fair use to explain the things in better way. )

2 thoughts on “Chai Sutta Bar | Anubhav Dubey | Success Story (in Hindi)”

  1. Bahut Badiya Sir. Chai Sutta Bar ko bahot achche se explain Kiya. You nailed it. Well Done Keep Sharing such types of article

    Reply
  2. यह Chai Sutta Bar Success Story बहुत ही अच्छे से और विस्तार से लिखा है सर… पढ़कर बहोत ज्यादा जानकारी मिली

    Reply

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.